Custom image

स्काउट्स, गाइड्स

Scouts and Guides & NCC/ NSS

 

Kendriya Vidyalaya Sangathan was registered as a society under the Society Registration Act ( XXI of 1860 ) onthe 15th December 1965. The primary aim of the sangathan is to administer the central schools scheme (20 schools established in 1963 ) formulated by the Government of India in the ministry of Education and Culture.KVS State Bharat Scouts and Guides:

 

 

KVS has been recognized the National Head quarters of Bharat Scouts and Guides as a state in 1976
Sections and Methods of the movement in KVS

Cubs / Bulbuls - 6 to 10 yrs - Six Methods

Scouts / Guides - 10+ to 17 yrs - Patrol System

SNo

Name of Teacher

Designation

Warrant No

Post in

Scout/ Guide &

Cub/ Bulbul

1

--

--

--

Guide Captain

2

CB Meena

TGT (WET)

S-9053

Scout Master

3

Vinod Malav

PRT

5747(jaipur region)

Scout Master

4

Abdul Rais

PRT

not alloted

Cub Master

5

Smt Meera Meena

PRT

not alloted

Guide Captain

No of Scouts : 52

No of Guides: 32

No of cub: 48

No of bulbul: 20

No of scouts in Pratham Sopan: 08

No of Guides in Pratham Sopan :01

No of scouts in Dwitiya Sopan : 18

No of Guides in Dwitiya Sopan: 03

No of scouts in Tratiya Sopan : Nil

No of Guides in Tratiya Sopan: Nil

Scout & Guide Activities In Vidyalaya

Scout Guide activities are conducted every Wednesday at scout corner in the vidyalaya Each troop is given training on different topics in the session all the SM/GC/FL/CM take classes & try their best to develop best scouting in the vidyalaya

स्काउट प्रतिज्ञा

मैं मर्यादा पूर्वक प्रतिज्ञा करता हूँ कि मैं यथा शक्ति ईश्वर और अपने देश के प्रति अपने कर्तव्य का पालन करूँगा.

दूसरो की सहायता करूँगा.

स्काउट नियम का पालन करूँगा.

स्काउट नियम

१. स्काउट विश्वसनीय होता है.

२.स्काउट वफादार होता है.

३.स्काउट सबका मित्र और प्रत्येक दूसरे स्काउट का भाई होता है.

४.स्काउट विनम्र होता है.

५.स्काउट पशु पक्षियों का मित्र और प्रकृति प्रेमी होता है.

६.स्काउट अनुशासन शील होता है और सार्वजनिक संपत्ति की रक्षा करने में सहायता प्रदान करता है.

७.स्काउट साहसी होता है.

८.स्काउट मितव्ययी होता है.

९.स्काउट मन,वचन और कर्म से शुद्ध होता है.

भारत स्काउट एवं गाइड प्रार्थना

दया कर दान भक्ति का हमें परमात्मा देना,

दया करना हमारी आत्मा में शुद्धता देना .

हमारे ध्यान में आओ ,प्रभु आँखों में बस जाओ,

अँधेरे दिल में आकर के ,परम ज्योति जगा देना.

बहा दो प्रेम की गंगा,दिलो में प्रेम का सागर,

हमे आपस में मिलजुलकर प्रभु रहना सिखा देना.

हमारा कर्म हो सेवा,हमारा धर्म हो सेवा,

सदा ईमान हो सेवा व सेवकचर बना देना.

वतन के वास्ते जीना,वतन के वास्ते मरना,

वतन पर जां फ़िदा करना प्रभु हमको सिखा देना.

दया कर दान भक्ति का हमें परमात्मा देना,

दया करना हमारी आत्मा में शुद्धता देना.

भारत स्काउट एवं गाइड झंडा गीत

भारत स्काउट गाइड झंडा ऊँचा सदा रहेगा,

ऊँचा सदा रहेगा झंडा ऊँचा सदा रहेगा.

नीला रंग गगन सा विस्तृत भात्र भाव फैलाता,

त्रिदल कमल नित तीन प्रतिज्ञाओं की याद दिलाता.

और चक्र कहता है प्रतिपल आगे कदम बढेगा,

ऊँचा सदा रहेगा झंडा ऊँचा सदा रहेगा.

भारत स्काउट गाइड झंडा ऊँचा सदा रहेगा.

स्काउट एवं गाइड  गीत

गलत मत कदम उठाओ,सोचकर चलो

गलत मत कदम उठाओ,सोचकर चलो ,विचार कर चलो,

राह की मुसीबतों को पार कर चलो.

तुम पे जिम्मेदारियां है मुल्क की बड़ी,

तुम पे आने वाले आंस की नजर गाड़ी,

तुम न बदलो अपनी चाल अब घडी घडी,

चिराग ले चलो ,आग ले चलो,

मस्तियों के रंग भरे ख्वाब ले चलो.

गलत मत कदम उठाओ,सोचकर चलो ,विचार कर चलो,

राह की मुसीबतों को पार कर चलो

तुम हो मुसाफिर तुम्हे क्या राह की फिकर

चट्टान तू तूफान के झोकों का क्या असर

ये कौन आ रहा,अँधेरा छा रहा

ये कौन मंजिलों पे मंजिलें उठा रहा

गलत मत कदम उठाओ,सोचकर चलो ,विचार कर चलो,

राह की मुसीबतों को पार कर चलो

मिल के चलो एक साथ अब नहीं रुको,

बढ के चलो एक साथ अब नहीं रुको,

साज करेगा,आवाज करेगा,

तुम्हारी वीरता पे जहाँ नाज करेगा ,

गलत मत कदम उठाओ,सोचकर चलो ,विचार कर चलो,

राह की मुसीबतों को पार कर चलो

-----------------------------------------------------------------------------------------------------------------

इन्साफ़ की डगर पे, बच्चो दिखाओ चल के

इन्साफ़ की डगर पे, बच्चो दिखाओ चल के

यह देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के

दुनिया के रंज सहना और कुछ न मुँह से कहना
सच्चाईयों के बल पे, आगे को बढ़ते रहना
रख दोगे एक दिन तुम, संसार को बदल के

अपने हों या पराये, सब के लिए हो न्याय
देखो कदम तुम्हारा, हरगि‍ज़ न डगमगाए
रस्ते बड़े कठि‍न हैं, चलना सँभल-सँभल के

इन्सानियत के सर पे, इज़्ज़त का ताज रखना
तन-मन की भेंट देकर , भारत की लाज रखना
जीवन नया मिलेगा, अंतिम चिता में जल के